ये हमारा Archive है। यहाँ आपको केवल पुरानी खबरें मिलेंगी। नए खबरों को पढ़ने के लिए www.biharnewslive.com पर जाएँ।

सारण:अजब भक्त की गजब कहानी,दुर्गा माँ को खुश करने के लिए जिन्दगी को लगाया दांव पर

133

डॉ विद्याभूषण श्रीवास्तव/ सुभाष प्रसाद

पानापुर (सारण)

बुधवार को शारदीय नवरात्र का शुभारंभ हो गया।पुरे क्षेत्र में माँ दुर्गा के पूजा-पाठ से वातावरण भक्तिभय हो गया है।मातारानी के स्नेहाशिष प्राप्ति हेतु भक्तगण अलग-अलग तरीके से माँ को खुश करने हेतु व्रत रख रहे हैं ।थानाक्षेत्र के धनौती में सुमन कुमार तिवारी ने नौ दिनों तक समाधि लेकर पूजा करने को ठाना था।लेकिन जैसे ही इस बात की खबर स्थानीय प्रशासन को हुईं थाना प्रभारी रमेश कुमार महतो अपने दलबदल के साथ घटना स्थल पर पहुंचे।वहां पहुंचकर उन्होंने स्थानीय मुखिया विजेन्द्र सिंह सहित अन्य गणमान्य लोगों को बुलवाया ।तथा उनके पिता दशरथ तिवारी तथा माता हरि देवी एवं ग्रामीणों को समझाया कि इस तरह से इन्हें समाधि में नहीं जाना चाहिए ।इसमें बहुत खतरा है ।ऐसा करने की इजाजत प्रसाशन आपको नहीं दे सकता ।

थाना प्रभारी ने इसकी सूचना अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को दी।पदाधिकारी द्वय ने ऐसा नहीं करने देने का सख्त आदेश दिया।मौके पर अंचलाधिकारी एवं पूर्व विद्यालय तारकेश्वर सिंह सहित दर्जनों व्यक्तियों ने बाबा को ऐसा न करने के लिए आग्रह किया तब भी वो मानने को तैयार नहीं थे।अन्त में उनकी माँ हरि देवी पैर पकड़कर रोने लगी।माँ की विनती और प्रसाशन के सख्ती के कारण बाबा ने माना कि ठीक है ऊपर से दो पटड़ा हटा दीजिए ।तब जाके प्रशासन ने राहत की सांस ली ।बाबा के समाधि में जाने से पहले चिकित्सा पदाधिकारी पानापुर ने उनकी स्वास्थ्य जाँच की।सबकुछ सामान्य होने पर उन्हें अंदर प्रवेश करने दिया गया।थाना प्रभारी ने दस दिनों के लिए दो चौकीदारो को 24 घंटे नजर रखने के लिए प्रतिनियुक्त कर दिया।बाबा के इस अदभुत पूजा को देखने के लिए दूर दूर से सैकड़ों महिला तथा पुरूष भक्तों तांता लगा था।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More