ये हमारा Archive है। यहाँ आपको केवल पुरानी खबरें मिलेंगी। नए खबरों को पढ़ने के लिए www.biharnewslive.com पर जाएँ।

ब्रह्मलीन संत माचा स्वामी की 8 वां महानिर्वाण दिवस पर रामबाग आश्रम में उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़,भजन- कीर्तन व भव्य भडांरा आयोजित,सैकड़ों शिष्यों व साधु-संतों ने अर्पित की पुष्पांजलि ,गणेश मंदिर और धर्मशाला की पड़ी नींव

75

किशोर चौहान,बिहटा,(पटना)।देश के ख्यातिलब्ध संत श्री श्री 1008 श्री जगतगुरु यतिराज गदाधराचार्य जी महाराज उर्फ माचा स्वामी का 8 वां नवनिर्माण दिवस धूमधाम से उनके आश्रम रामबाग में मनाया गया।जहां उनकी समाधि स्थल पर बनी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के शिष्यों की भीड़ उमड़ी रही।मंगलवार को उनके 8 वें बैकुन्ठोतस्व पर आश्रम में गणेश मंदिर और धर्मशाला की नींव रखी गयी।

इस अवसर पर काशी के प्रसिद्ध कथावाचक एवं उनके शिष्य गोपालाचार्य जी महाराज ने अपनी संगीतमयी भजन-कीर्तन कर सबको मंत्रमुग्ध किया।भव्य भंडारा का भी आयोजन किया गया। 128 वर्ष में ब्रह्मलीन हुए ये संत वैष्णव धर्म सम्प्रदाय के ख्यातिलब्ध संत जगतगुरु जनार्दनाचार्य जी महाराज के शिष्य थे।इनके दो गुरु भाई जगतगुरु देवराहा बाबा एवं रामरेखा बाबा थे।जिन्होंने इनके पहले ही ब्रह्मलीन हो गए थे।इन्होंने पटना जिले के बिहटा -आरा नेशनल हाइवे पर सिकंदरपुर गांव के समीप रामबाग आश्रम का निर्माण किया था।इन्होंने शिक्षा को बढ़ावा देने के लिये कई स्कूल और कॉलेज का निर्माण कराया था।बिहटा का जीजे कॉलेज और रामबाग का उच्च विद्यालय इसके उदाहरण है।कार्यक्रम में आर्या बाबा,पूर्व मुखिया रमेश चंद्र राय, उप प्रमुख कुणाल यादव,शिक्षाविद उदय कुमार,प्रदीप कुमार,श्रीराम सिंह,सिद्धनाथ सिंह,अजय जी,पप्पू जी,रानू कुमार आदि ने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायी।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More