ये हमारा Archive है। यहाँ आपको केवल पुरानी खबरें मिलेंगी। नए खबरों को पढ़ने के लिए www.biharnewslive.com पर जाएँ।

बक्सर हुआ बारी संघ का महा सम्मेलन,हक की लड़ाई अधिकार के साथ

182

 

रिपोर्ट रामराज सिंह बक्सर

शिक्षित बनो संगठित बनो के तर्ज पर भारत रत्न भीमराव अंबेडकर का फार्मूला ताजा करते हुए बक्सर जिला के डुमराँव अनुमंडल स्वजातीय बारी समाज के ओर से महा सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसका उद्घाटन मदन,बारी , गणेश बारी और समाजसेवी मधुसूदन बारी ने संयुक्त रूप से फीता काटकर किया। इस दौरान बिहार राज्य बारी संघ के अध्यक्ष रामधनी भारती ने कहा कि संगठन को मजबूत बनाने के लिए एकजुटता बनाये । अगले बक्ता के रूप में बिहार राज्य बारी संघ के सचिव ज्योति कुमार बारी स्वजातीय बारी महा सम्मेलन में युवाओं मे जोश भरने का काम किया .साथ साथ महासचिव जगदीश राउत ने सरकार से अनुसूचित जनजाति कमिटी के माध्यम से अतिपिछड़ा से अनुसूचित जनजाति मे जाने का माँग रखा और बारी जाती के बेरोजगार युवाओं के लिए सरकार से शिक्षा रोजगार की मुहैया कराने की बात कही । तथा युवाओं को यह संदेश दिया कि जागो,उठो और आगे बढ़ो.
इस दौरान सम्मेलन मे बिहार राज्य बारी संघ के जुझारू नेता सः सचिव अजय कुमार विक्रांत ने जिला एंव राज्य स्तर पर सम्मेलन करने को कहा जिसमे पुरे बारी परिवार को हिस्सा लेने का खुला मंच से आह्वान किया कि एकता के साथ अनुसूचित जनजाति संघर्ष आन्दोलन में बल मिलेगा । आगे बिक़ान्त ने कहा कि संघ को संगठित शिक्षा को महत्व दे . संघ के अन्य गणमान्य बुद्धिजीवी बारी समुदाय के लोगों ने सदस्यता ग्रहण के साथ आगे की रणनीति पर विचार विमर्श किया जिसमें मुख्य रुप से शिवमंगल बारी, उमा शंकर जी,रामायण बारी, विनय कुमार, अमरेंद्र बारी, बसंत जी कृपाल बारी, जयशंकर बारी, कैलाश बारी, सुनील बारी, विरजबिहारी बारी, लक्ष्मण बारी, अजय बारी,ललन बारी,लालचन्द बारी, जगदीश बारी, मुन्ना बारी, वीर बारी, गिरजा बारी, रंजीत बारी संतोष बारी, कृष्ण बारी, अनिल बारी, राम बारी, जितेंद्र बारी, प्रमोद बारी, सुजीत बारी, अजित बारी, छोटे बारी, इत्यादि भाईयों ने महा सम्मेलन मे भाग लिया और एकजुटता का परिचय दिया।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More