ये हमारा Archive है। यहाँ आपको केवल पुरानी खबरें मिलेंगी। नए खबरों को पढ़ने के लिए www.biharnewslive.com पर जाएँ।

छपरा:रोटरी क्लब ने दो दर्जन से ज्यादा शिक्षको को एक सादे समारोह में किया सम्मानित

52

***बच्चो के मूल्यांकन के आधार पर क्लब ने किया था चयनित

डॉ.विद्या भूषण श्रीवास्तव

बिहार न्यूज़ लाइव@सारण

रोटरी क्लब ऑफ छपरा ने शिक्षक दिवस पर पच्चीस शिक्षकों को अंग वस्त्र एवं रोटरी इंटरनेशनल के द्वारा राष्ट्र निर्माण पुरस्कार का प्रशिस्त पत्र देकर सम्मानित किया। शिक्षक दिवस के अवसर पर बुधवार को देर संध्या स्थानीय ब्रज किशोर किंडर स्कूल के सभागार में क्लब की अध्यक्ष डॉ.दीप्ति सहाय की अध्यक्षता में आयोजित समारोह के मुख्य अतिथि 3250 के पूर्व गवर्नर डॉ राकेश प्रसाद थे।स्वागत करते हुए पूर्व अध्यक्ष रोटेरियन ज़ीनत ज़रीना मसीह ने कहा कि शिक्षक एक ऐसा दीपक है,जो जलता खुद है ,पर उसके जलने से सारा जहाँ रौशन हो जाता है।वहीं अध्यक्ष डॉ. दीप्ति सहाय ने कहा कि मैं भी शिक्षक हू,और आप सबों को सम्मानित होते हुए देख मुझे बहुत खुशी महसूस हो रही है।आप से ही समाज को अच्छे डॉक्टर, इंजीनियर, वकील,प्रोफ़ेसर एवं अन्य क्षेत्रों के विशषज्ञ मिलते है।हमे गर्व है कि हम शिक्षक है ।उन्होंने कहा कि रोटरी सिर्फ शिक्षा के क्षेत्र में ही नहीं अन्य क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान करने के लिये भी सम्मानित करती है।सचिव पुनितेश्वर ने सदन को अभी तक हुए सेवा के क्षेत्र एवं कार्यों को बताया।वही राष्ट्र निर्माण पुरस्कार के चेयरमैन पूर्व अध्यक्ष रोटेरियन डॉ. शहज़ाद आलम ने कहा कि, शिक्षकों का चुनाव उनके ही विद्यालय के बच्चों ने किया है।रोटरी इंटरनेशनल के द्वारा दिये गए फॉर्म पर बच्चों ने अंक अंकित किये,जिसके आधार पर ही शिक्षक.चयनित किये गये है।वे सभा का संचालन भी कर रहे थे।मुख्य अतिथि डॉ. राकेश प्रसाद ने अपने संबोधन में कहा कि आप को सम्मानित करते हुए हम रोटेरियन सम्मानित हो रहे है।आप से ही समाज का निर्माण होता है।आप एक कुम्हार की भांति कार्य करते है,जिस लगन से एक कुम्हार अपने मिट्टी को तपा कर,गला कर एक सुंदर बर्तन बनाता है ,उसी प्रकार आप भी समाज बनाते है।मैं आपको प्रणाम करता हूं।उन्होंने रोटरी इंडिया लिट्रेसी मिशन के तहत आने वाली योजनाओं को बताया।उन्होंने रोटरी के कार्यों को रेखांकित करते हुए कहा कि इस तरह के आयोजन यह क्लब प्रति वर्ष करता है आप सभी बच्चो को सही मार्ग बताए ताकि वे सही तरीके से शिक्षा ग्रहण कर सकें।

इसके पूर्व अपने सम्मान के प्रत्योत्तर में शिक्षक जय किशोर जी ने कहा कि बच्चो के द्वारा मूल्यांकन के पश्चात सम्मानित होना अपने आप में गौरव की बात है।शिक्षक सुनील कुमार पांडेय ने कहा किसके बच्चे भी हम सभी का अवलोकन कर रहे है यह कम बदी बात नहीं है। धन्यवाद ज्ञापन करते हुए डॉ उषा वर्मा ने कहा कि शिक्षक का तो कोइ मोल नहीं है,उसे किसी भी आधुनिक बस्तुओं से नही तौला जा सकता।वह तो भगवान की अनमोल रचना है। प्रारम्भ में क्लब द्वारा प्राथमिक एवं मध्य विद्यालय से जुड़े शिक्षको के अलावा महाविद्यालय एवं वि वि से जुड़े शिक्षको सहित निजी विद्यालयों के शिक्षको को भी सम्मानित किया गया इनमें डॉ.उधा वर्मा,करुणा सिन्हा,वीणा शरण,आशा शरण, प्रो. ए डी मसीह,सावित्री शर्मा, डॉ.,मृदुल शरण,प्रो.सरोज कुमार वर्मा,प्रो.के जे वर्मा,प्रो.एच के वर्मा, डॉ.विद्या भूषण श्रीवास्तव, डॉ.सुरेश प्रसाद सिंह, संदीप आनन्द आदि प्रमुख रूप से शामिल थे।

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More